अपराध ताजातरीन देश राजनीति

सुहागरात से पहले अन्य व्यक्ति के साथ आपत्तिजनक स्थिति का मिला अश्लील वीडियो

नई दिल्ली। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में एक शख्स उस वक्त स्तब्ध रह गया, जब उसे शादी के बाद सुहागरात से ठीक पहले अपनी पत्नी का अश्लील विडियो मिला। नवविवाहित शख्स ने अपनी पत्नी के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। शिकायत में उसने पुलिस को बताया कि उसे सुहागरात के पहले एक विडियो मिला, जिसमें उसकी पत्नी शादी के 2 दिन पहले किसी अन्य व्यक्ति के साथ आपत्तिजनक स्थिति में दिखाई दी। मामला जब पुलिस के पास पहुंचा तो पत्नी के प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया गया। अब पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुट गई है।

सुब्रमण्यनगर निवासी संदेश ने कहा कि उसने पिछले साल 24 नवंबर को चिकमंगलुरु की सोनिया से शादी की थी। जून में ही उनकी सगाई हुई थी। संदेश एक प्राइवेट कंपनी में काम करता है, जबकि सोनिया एक सरकारी कर्मचारी हैं। संदेश ने कहा कि उन्होंने सगाई के लिए 1.2 लाख रुपये और शादी के लिए 7.6 लाख रुपये खर्च किए। सुहागरात के लिए 15 दिसंबर की तारिख तय की गई थी। संदेश ने कहा, ’13 दिसंबर की रात को, मुझे अपनी पत्नी के फेसबुक मेसेंजर पर एक अन्य व्यक्ति के साथ अश्लील हरकतें करने की फोटो मिलीं। फोटो के साथ एक मोबाइल नंबर दिया गया था। मैंने नंबर डायल किया और दूसरी तरफ से व्यक्ति ने अपना नाम रमेश (बदला हुआ नाम) बताया।’

उसने कहा कि सोनिया और वह 7 साल से रिलेशनशिप में थे। रमेश ने दावा किया कि उसने और सोनिया ने 30 जून, 2019 को अपनी सगाई के बाद भी शारीरिक संबंध जारी रखा। इसके बाद, मुझे रमेश का एक अश्लील विडियो मिला, जिसमें सोनिया उसके साथ अश्लील हरकतें करते दिखाई दीं। फिर, मुझे 10 और 12 दिसंबर की रात को रमेश और सोनिया के बीच व्हाट्सऐप संदेशों के स्क्रीनशॉट मिले। एक मेसेज में सोनिया बताती है कि वह रमेश को पसंद करती है, जबकि उसके परिवार के सदस्य मुझे पसंद करते हैं। अश्लील क्लिप मिलने के बाद, संदेश ने दिसंबर 2019 में हसन पुलिस में साथ शिकायत दर्ज की।

फोटो और विडियो की जांच के बाद पुलिस ने रमेश को गिरफ्तार किया, जिसने 7 साल तक सोनिया के साथ संबंध रखने की बात कबूल की। संदेश ने कहा कि सोनिया के मामा ने उसे पुलिस में जाने के खिलाफ धमकी दी थी। शिकायतकर्ता ने कहा, ‘सोनिया ने एक नोट छोड़ा है, जिसमें उसने आत्महत्या की धमकी दी है और संदेश और उसके परिवार को इसका कारण बताया है।’ संदेश के बयान के आधार पर, पुलिस ने IPC की धारा 406 (विश्वास का उल्लंघन) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत मामला दर्ज किया है।

जांच अधिकारी ने कहा, ‘यह एक पेचीदा मामला है क्योंकि हमारे पास जांच करने की अधिक स्वतंत्रता नहीं है। तस्वीरों और विडियो सबूतों की मदद से हमें यह साबित करना होगा कि सोनिया ने संदेश को धोखा दिया। इसके लिए हमने एक कानूनी सलाहकार से संपर्क किया है।’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *