देश राजनीति

पारिवारिक ट्रस्ट विवाद मामले में ललित मोदी को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं

 

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने पारिवारिक ट्रस्ट विवाद मामले में ललित मोदी को कोई राहत नहीं दी है। जस्टिस अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली वेकेशन बेंच ने दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले में दखल देने से इनकार करते हुए ललित मोदी को निर्देश दिया कि वो हाईकोर्ट जाएं।

कोर्ट ने कहा कि दिल्ली हाईकोर्ट की इस याचिका पर विचार करेगा। कोर्ट ने कहा कि हाईकोर्ट पहले ही इस मसले पर सुनवाई कर रहा है और केवल अंतरिम आदेश पारित किया गया है। हाईकोर्ट में इस मामले पर 27 मार्च को सुनवाई तय की गई है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर हम इस मामले में दखल देते हैं तो ऐसा लगेगा कि हम हाईकोर्ट की शक्तियां छीन रहे हैं।

हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच ने ललित मोदी की मां बीना मोदी की याचिका पर सिंगापुर में चल रही मध्यस्थता की कार्यवाही पर रोक लगा दिया था। हाईकोर्ट के सिंगल बेंच ने सिंगापुर में चल रही मध्यस्थता की कार्यवाही पर यह कहते हुए रोक लगाने से इनकार कर दिया था कि वो उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं आता है।

ललित मोदी, बीना मोदी और उनके दो बच्चों चारू भाटिया और समीर मोदी के बीच सिंगापुर में मध्यस्थता की कार्यवाही चल रही है। हाईकोर्ट में बीना, चारू और समीर मोदी ने यह दलील दी थी कि परिवार के सदस्यों के बीच एक ट्रस्ट डीड बना है और भारतीय कानून के मुताबिक केके मोदी के पारिवारिक ट्रस्ट के विवाद को देश के बाहर मध्यस्थता के जरिए नहीं सुलझाया जा सकता है। आपको बता दें कि केके मोदी की 2 नवंबर 2019 को मौत हो गई थी जिसके बाद ट्रस्टियों के बीच विवाद शुरु हो गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *