ओपेक खास खबर ताजातरीन दाम बढ़ोत्तरी देश पेट्रोल डीजल महंगाई

तो प्याज के बाद अब पेट्रोल-डीजल की बारी?

प्याज पूरे देश को रुला रहा है। दूसरी तरफ रेप की घटनाओं से पूरा देश आक्रोशित है ऐसे में एक और बुरी खबर आ रही है। जल्द ही पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ सकते हैं। न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक तेल उत्पादक देशों के मंच यानी OPEC के सदस्य देशों ने कच्चे तेल के उत्पादन में कमी करने का फैसला किया है।

खबर के अनुसार OPEC के सदस्य देशों और रूस जैसे उनके अन्य मित्र उत्पादक देशों के बीच कच्चे तेल के रोजाना उत्पादन में 5 लाख बैरल की अतिरिक्त कमी करने की सहमति बनी है। यह समझौता नए साल यानी 1 जनवरी से लागू होगा। उत्पादक देशों का मानना है कि इस समय वैश्विक बाजार में कच्चे तेल की आपूर्ति जरूरत से ज्यादा है, इससे कीमतें नीचे आने का जोखिम है।

इससे पहले इन देशों में उत्पादन को अक्टूबर 2018 के स्तर से 12 लाख बैरल कम करने का समझौता हुआ था। जुलाई में इस समझौते को और आगे के लिए प्रभावी कर दिया गया। कटौती मार्च 2020 तक बनाए रखने का निर्णय हुआ था। भारत भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक है।

वहीं OPEC के देशों से अपनी जरूरत का 80 फीसदी तेल आयात करता है। यही वजह है कि भारत में पेट्रोल और डीजल की कीमतें कच्‍चे तेल के भाव के आधार पर तय होती हैं। भारत मे 2-3 रुपये तक की बढ़ोत्तरी पेट्रोल और डीजल में हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *