गाजीपुर ताजातरीन ग़ाज़ीपुर

पुलिस के सामने तांडव करने वाले दो दिन बाद भी गिरफ्त से दूर

मरदह गाजीपुर।थाना क्षेत्र के लहुरापुर गांव में पुलिस के सामने गुरूवार दोपहर हुई डकैती व लूट की घटना के दो दिन बाद भी आरोपी पुलिस गिरफ्त से दूर।दंबगो द्वारा किए गये तांडव से पुलिस सहित सभी लोग रह गये थे दंग।जिसका बीडीओ शोसल मीडिया पर खुब हो रहा है वायरल।लहुरापुर गांव निवासी अजीत सिंह लेयर फार्म कि दुकान पन्सेरवां चट्टी के बगल स्थित अपने खेत में खोले है।गुरूवार को दोपहर 12 बजे अपने फार्म पर मौजूद थे।इसी दौरान भोजापुर गांव के कुछ दबंग किस्म के लोग एकजुट होकर वहां पहुंचे और गाली गलौच एवं हाथापाई पर उतारू हो गये।तुरंत अजीत सिंह ने डायल 100 पुलिस को सूचना दी।

मौके पर पहुंची पुलिस के सामने ही दबंगो ने फार्म के मेन दरवाजे तोङकर अंदर प्रवेश कर अजीत सिंह व उनके नौकर रतिउराव को लाठी डण्डे से वार कर पाकिट से 84 हजार रूपये नगदी सहित गले से सोने की जंजीर छिन लिए।उसके बाद भी वह रूके नहीं पुलिस के सामने ही ईट पत्थर व लाठी डण्डे चलाकर फार्म को काफी नुकसान पहुंचाया।इस दौरान पुलिस बेबस और लाचार दिखी।घंटों बाद जब गांव के  धनंजय सिंह व आनंद सिंह शोरगुल सुनकर मौके पहुंचे तो किसी तरह बीच बचाव करके मामला शांत कराया।जाते-जाते दंबगो ने जान से मारने की धमकी भी दी।इस मामले में पीङित अजीत सिंह के द्वारा गांव के छ: नामजद व एक अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी थी।

इस सबंध में क्षेत्राधिकारी महमूद अली ने बताया कि तहरीर के आधार पर गांव के ही रामलखन यादव,शिवकुमार यादव,अमलेश यादव,गोलू यादव,अजीत यादव,जय यादव के खिलाफ धारा 395,452,147, 323,504,506,427 में मुकदमा पंजीकृत कर दिया गया।जिनकी तलाश जारी है जल्द से जल्द वह पुलिस गिरफ्त में होंगे।

इस घटना की जानकारी होने पर शुक्रवार को  अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा युवा के जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमण्डल मरदह थाना प्रभारी नागेश्वर तिवारी व कासीमाबाद क्षेत्राधिकारी महमूद अली मिलकर जल्द से जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की तथा दो दिन का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि रविवार तक अगर आरोपी गिरफ्त में नहीं होंगे तो सोमवार को चक्काजाम होगा जिसका जिम्मेदार प्रशासन होगा।

आगे पीङित अजीत सिंह के लेयर फार्म लहुरापुर गांव पहुंचकर ढाढ़स बधाते हुए इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि पुलिस के सामने दंबगो द्वारा किए गये तांडव में अगर न्याय नहीं मिला तो हम व्यापक स्तर पर इसकी उच्च स्तरीय जांच कराएंगे।इस मौके पर प्रतिनिधिमंडल में राजकुमार सिहं,संदीप प्रताप सिंह पिन्टू,विकास सिंह,भीम सिहं,शेषनाथ सिहं,विशाल सिहं,उपेन्द्र सिहं राणा आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *