ताजातरीन राजनीति

रॉबर्ट्सगंज से पूर्व आई0 जी0 एस0 आर0 दारापुरी होगें लोकसभा प्रत्याशी

सोनभद्र: स्वराज अभियान, आदिवासी वनवासी महासभा व आइपीएफ की रविवार को उरमौरा स्थित केन्द्रीय कार्यालय पर हुई बैठक में सर्वसम्मति से पूर्व आई0 जी0 एस0 आर0 दारापुरी को लोकसभा चुनाव में उतारने का फैसला लिया है। बैठक में मंगरू प्रसाद श्याम को लोकसभा चुनाव प्रभारी बनाया गया और कृपा शंकर पनिका को दुद्धी, तेजधारी गुप्ता को ओबरा, कांता कोल को घोरावल, संतोष कुमार गौतम को राबर्ट्सगंज, अजय राय व रामेश्वर को चकिया विधानसभाओं के प्रभारी का दायित्व दिया गया है। इसके अतिरिक्त बैठक में पंद्रह सदस्यी चुनाव संचालन समिति का गठन किया गया है।
बैठक में मौजूद स्वराज अभियान की राष्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य अखिलेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि हमने राबर्ट्सगंज क्षेत्र को चुनाव लड़ने के लिए इसलिए चुना है क्योंकि यह क्षेत्र देश के सर्वाधिक पिछड़े क्षेत्रों में आता है। यहां वनाधिकार कानून को विफल कर दिया गया, बिना सुनवाई के ही जमा दावे निरस्त कर दिए गए। आदिवासियों को आज तक उनकी पहचान तक नहीं मिली। कोल जैसी आदिवासी जाति एसटी नहीं है और आदिवासी धांगर के तो एससी के दर्जे को भी छीन लिया गया। पूरे क्षेत्र को लूट की चारागाह बना दिया गया है और यहां कि नदी, पहाड़, जंगल सब लूटा जा रहा है। हर वर्ष मलेरिया जैसी बीमारियों से लोग मरते है जिनके इलाज तक की व्यवस्था नहीं है। मनरेगा ठप पड़ी है और रोजगार के अभाव में लोग पलायन कर रहे है। आज भी लोग चुआड का पानी पी रहे है। प्रदूषित पानी से हर साल बच्चे मरते है। देश के सर्वाधिक पिछड़े जिले में होने के बावजूद किसी सरकार, किसी जनप्रतिनिधि की इसके विकास में रूचि नहीं है। इधर के दिनों में योगी सरकार बनने के बाद आरएसएस के निर्देश पर असहमति की हर आवाज को कुचला जा रहा है। जिले के आला अधिकारी आरएसएस के एजेन्ट के बतौर काम कर रहे है। आदिवासी महिलाओं की घरों से गिरफ्तारी का विरोध करने पर आदिवासी वनवासी महासभा के नेताओं का दमन किया गया। मुरता प्रधान को आज तक चार्ज नहीं दिया गया और महासभा के नेताओं को गुण्डा एक्ट की नोटिसें दी गयी। रेनूसागर में अपना अधिकार मांगने पर मजदूरों पर बर्बर दमन किया गया। अवैध खनन का विरोध करने पर ओबरा छात्रसंघ के अध्यक्ष अभी तक जेल में है। महज खबर दिखाने पर पत्रकारों तक पर गुण्ड़ा एक्ट लगाया गया। यहां के लोगों की उम्मीद थी कि आरएसएस के इस दमन का सपा, बसपा, कांग्रेस जैसे विपक्षी दल विरोध करेंगे पर विरोध की कौन कहे वह तो इसमें मददगार रहे। ऐसी परिस्थिति में इस क्षेत्र के विकास, वनाधिकार कानून, ठेका मजदूरों के नियमितिकरण समेत अन्य जनमुद्दों पर इस चुनाव में उतरेगें। ताकि इन पर जारी संघर्ष को मजबूती मिल सके।
बैठक में स्वराज अभियान के नेता दिनकर कपूर, युवा मंच के संयोजक राजेश सचान, अजय राय, अखिलेश दूबे, राजेन्द्र प्रसाद गोंड़, कृपा शंकर पनिका, मंगरू प्रसाद श्याम, रामदेव गोंड़, रामेश्वर प्रसाद, कांता कोल, सेवालाल कोल, बलवंत खरवार, मनोहर गोंड़, संतोष गौतम, श्रीकांत सिंह, राम मूरत़ आदि लोगों ने अपनी बात रखी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *