ग़ाज़ीपुर: जी हां जहां आम जन मानस को सभी कार्यों के लिए आधार कार्ड की अनिवार्यता है लेकिन जनपद के ही स्थानीय सांसद एवं संचार मंत्री एवं रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा के जनपद में आधार केंद्रों की हालत अत्यंत खराब है।
आज यदि आप आधार कार्ड की बात करें तो खाते के लिए, पैन कार्ड के लिए, किसी भी सुविधा का लाभ उठाने के लिए आपके पास आधार कार्ड का होना लगभग अनिवार्य है। परीक्षा में उपस्थित होने आदि के लिए भी आधार एक पहचान जरूरी है साथ ही यात्रा करने में रेल या हवाई किसी मे भी हो आधार मांग ही लिया जाता है। अब ऐसे में जब आधार केंद्रों की हालत खराब हो तो जनता कहाँ जाए?
जनपद के आधार केंद्रों की हमने समीक्षा की और पाया कि भारतीय डाक द्वारा जितने भी केंद्र खोले गए है या तो वहां के ऑपरेटर को आधार बनाने नहीं आते हैं या आवश्यक उपकरणों के अभाव में केन्द्र चल ही नहीं रहे है। सिर्फ uidai की वेबसाइट पर यह केन्द्र दिख तो रहे हैं लेकिन उन केंद्रों पर एक भी आधार का कार्य नहीं हो सका है।
कहाँ कहाँ है आधार केन्द्र?
सिर्फ यदि भारतीय डाक के ही आधार केंद्रों की बात की जाए तो आधार के केन्द्र जनपद के पीरनगर कार्यालय, मोहम्मदाबाद , नंदगंज, मरदह, औंड़िहार, गहमर, रेवतीपुर, जंगीपुर, देवकली, दिलदारनगर, शादियाबाद, ग़ाज़ीपुर सिटी के कुल 12 पोस्ट आफिस केंद्रों पर आधार की सुविधा आधार की वेबसाइट बता रही है। लेकिन हालत अत्यंत खराब है। मुहम्मदाबाद के केन्द्र पर ही पिछले 4-5 माह से किट रखी हुई है। हमने जब वहां के एक कर्मचारी से बात की तो पता चला कि वहां के ऑपरेटर को आधार बनाने की जानकारी अत्यंत शून्य है। ऐसे जनता का भगवान ही रक्षक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here