खास खबर ताजातरीन राजनीति वोटिंग/POLL सोशल मीडिया

2019 चुनाव: तो क्या इसबार मिलेगा बलिया से महिला उम्मीदवार को भाजपा से टिकट

बलिया: महर्षि भृगु की पावन धरती बलिया और सुरहा ताल, ददरी मेला के लिए प्रसिद्ध बागी बलिया पूर्वांचल का एक जिला है जिसे कम से कम हम पिछड़ा जिला तो कह ही सकते है उसकी हालत ऐसी ही है। पिछली बार आम चुनाव 2014 में यहां से भाजपा के नेता भरत सिंह मोदी लहर में विजयी तो बन गए है लेकिन इस बार उनका टिकट कटना पक्का माना जा रहा है। ऐसी खबर आ रही है कि जो सर्वे भाजपा ने कमल संदेश यात्रा द्वारा कराई थी उसमें सांसद पूरी तरह फेल हो गए। अब पूर्वांचल के कई नेताओं के टिकट काटने का मन बीजेपी आलाकमान बना रहा है और उसमे बलिया सांसद भी हैं।
कौन कौन है सीट के दावेदार?

केतकी सिंह

केतकी सिंह भाजपा के इस सीट का दावा करने वाली एकमात्र महिला उम्मीदवार हैं और उन्होंने 2019 के आम चुनाव में इस सीट की दावेदारी के लिए जोर शोर से जनसंपर्क अभियान भी जारी रखा है। हम आपको बता दें कि 2017 के विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने पर उन्होंने पार्टी से बगावत कर दी थी और बांसडीह से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ा था। हालांकि वह अपने प्रतिद्वंदी रामगोविंद चौधरी से बहुत कम1579 मतों के अंतर से चुनाव हार गई थी। कुछ महीने पहले ही उन्हें फिर से पार्टी में महेंद्र नाथ पाण्डेय की उपस्थिति में बीजेपी में शामिल कर लिया गया था। बीजेपी कार्यकर्ता उन्हें महिला उम्मीदवार के तौर पर देख रहे है और समर्थन में भी दिख रहे हैं।

नागेंद्र पाण्डेय

नागेन्द्र पाण्डेय भी बलिया सीट से अपनी उम्मीदवारी में तैयार है। उन्होंने भी कमल संदेश यात्रा के दैरान आईटी सेल के साथ मिलकर जनसंपर्क अभियान चलाया था। इसके अलावा वह ग्रामीण क्षेत्रों में भी काफी सक्रिय दिखते है। नागेन्द्र पाण्डेय को ब्राह्मण होने की वजह से ब्राह्मण जनसेवा मंच ने भी समर्थन देने का वादा किया है। जिससे ब्राह्मणों का वोट उन्हें मिलेगा। आपको हम बता दें कि नागेन्द्र पांडेय पहले कांग्रेस के नेता थे और 2012 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव भी लड़ा था लेकिन 2014 में उन्होंने कांग्रेस से स्तीफा दे दिया और भाजपा में शामिल हो गए। ग्रामीण क्षेत्रों में लकड़ी होने कारण यह भी भाजपा के एक परिपक्व दावेदार हैं।

साकेत सिंह सोनू


साकेत सिंह सोनू एक युवा नेता हैं। वह भी उम्मीदवारी में लगे हुए हैं । वह राष्ट्रीय कार्यक्रमों एवं बैठक विभाग के प्रदेश सह संयोजक हैं। एक युवा होने के नाते इस सीट पर यदि युवा उम्मीदवार को तव्वजो दी जाएगी तो वह एक अच्छे दावेदार होंगे। हालांकि अभी वह अन्य दावेदारों की तरह सक्रिय नही दिखते हैं। लेकिन दावेदारी कर रहे हैं तो समय बताएगा उनकी दावेदारी पर मुहर लगेगी या फिर नहीं।

बीएन गुप्ता


बीएन गुप्ता भी भाजपा के टिकट की दावेदार पेश करेंगे। वह पेशे से एक नेत्र चिकित्सक है और वह ग़ाज़ीपुर के भूतपूर्व मुख्य चिकित्साधिकारी राह चुके हैं। वह अपने पेशे से ही ग्रमीण क्षेत्रों में समाजसेवा के कार्य मे लगे हुए है और समय समय पर कैम्प लगाकर लोगों के नेत्र परीक्षण एवं निःशुल्क लेंस लगाने का कार्य जारी रखे हुए हैं। हालांकि उनकी पकड़ बीजेपी कार्यकर्ताओं में उतनी नहीं है जितनी अन्य लोगों की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *