जैसे जैसे 2019 का आम चुनाव अब करीब आता जा रहा है वैसे वैसे चुनावी रणनीतियां अब बनने लगीं है। जहां एक तरफ कांग्रेस के सोशल मीडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष वैभव वालिया ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिला समन्वयकों की घोषणा की है वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने भी देश के कई जगहों पर मेरा बूथ सबसे मजबूत कार्यक्रम के अंतर्गत डिजिटली बात किये।
किसे कहाँ के लिए नियुक्त किया गया?
कांग्रेस ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के 21 जिलों के लिए निम्नलिखित लोगों को नियुक्त किया है-
वाराणसी- द्विजेन्द्र विश्वकर्मा, चंदौली- बनमाली तिवारी । जौनपुर- होजाइफा खान, विशाल खत्री, अक्षय चौरसिया, विनीत कुमार दुबे। सिद्धार्थ नगर- आमिर मोइन, ग़ाज़ीपुर- वर्चस्व पाण्डेय, राजीव पाण्डेय, कृष्णा साहनी। देवरिया- अक्षय शर्मा, भीम विश्वकर्मा, राजन कुमार तिवारी। आज़मगढ़- अभिषेक राय , अभिषेक पाण्डेय, शुभम चौबे।
भदोही- सुरेश चौहान, अभिषेक पाल, विजय शुक्ला, संजय विश्वकर्मा। बस्ती- गोपाल पाण्डेय, रोहन श्रीवास्तव,
बलिया- अभिषेक कश्यप, अभिषेक संस्कृति, रामकुमार वर्मा , ओम प्रकाश । इलाहाबाद- शुभम मिश्र , नवीन पाल, नितिन पाण्डेय, राम शुक्ला । सोनभद्र- सूरज वर्मा, राहुल मौर्या। गोरखपुर- स्वप्निल श्रीवास्तव, राजू विश्वकर्मा, अविनाश तिवारी, अविनाश भट्ट। संत कबीर नगर- अहमद जमाल । मिर्जापुर- आलोक पाठक, रमेश रंजन ।
मऊ- मिहिर सिंह , रमन पाण्डेय, अरविंद यादव ।
महराजगंज- सुनील मद्धेशिया, इजराइल अंसारी, वेदपव्यास मौर्या । प्रतापगढ़- विवेक तिवारी, यश शर्मा, अमृतेश शुक्ला, अविनाश शुक्ला । कुशीनगर- प्रिंस प्रताप सिंह, अखलाख । कौशाम्बी- अविनाश पाण्डेय, विवेक मिश्रा । फतेहपुर- प्रांजल द्विवेदी
2014 के आम चुनावों में सोशल मीडिया ने बीजेपी के जीत में अहम भूमिका निभाई थी जिसके बाद से कांग्रेस ने भी खुद का सोशल मीडिया का गठन किया । सभी जानते है कि सोशल मीडिया पर चुनाव प्रचार को अभी तक किसी प्रकार से चुनाव आयोग नियंत्रित नहीं कर सकता है इस संबंध में कोई विशेष योजना या फिर नियम नहीं है चुनाव आयोग के पास। ऐसे में जाहिर है एकबार फिर से 2019 की लड़ाई सोशल मीडिया जैसे फेसबुक,ट्विटर, यूट्यूब, इंस्टाग्राम , गूगल प्लस द्वारा भी लड़ी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here